कविता को और जीवंत बना गयी कविता की एक साँझ -4

 कोलकाता :  10 जून की शाम कोलकाता की साहित्यिक संस्था नीलांबर के द्वारा कला कुंज सभागार में ‘एक साँझ कविता की -4’ का शानदार आयोजन किया गया।पिछले कुछ वर्षों के दौरान नीलांबर ने अपने आयोजनों के द्वारा पूरे देश के साहित्य प्रेमियों का ध्यान खींचा है।संस्था ने आधुनिक तकनीक का प्रयोग करके साहित्य को आम लोगों के बीच पहुँचाने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किया है।इसी कड़ी में यह आयोजन था।सबसे पहले दिवंगत कवि केदारनाथ सिंह को श्रद्धांजलि स्वरूप कविता कोलाज की प्रस्तुति की गई, जिसमें ममता पाण्डेय, स्मिता गोयल,ऋतु तिवारी एवं विशाल पाण्डेय ने हिस्सा लिया।इसके बाद घनश्याम कुमार देवांश की कविता ‘नौकरी चुड़ैल है’ पर दीपक कुमार ठाकुर द्वारा मूक अभिनय प्रस्तुत किया गया। तुषार धवल सिंह की कविता ‘अधूरे में’ पर विजय शर्मा द्वारा निर्देशित लघु फिल्म दिखाई गई जिसमें विशाल पाण्डेय, अन्नु राय एवं शाश्वत झा ने अभिनय किया था।’नृत्यंगनाज’ संस्था की रश्मि बंदोपाध्याय एवं समूह ने अनामिका की कविता ‘सृष्टि’ पर भाव नृत्य प्रस्तुत किया।इस कविता में आज के समय में स्त्रियों की दशा का मार्मिक चित्र मौजूद है।राजेश जोशी की कविताओं पर बाशा शिक्षण संस्थान एवं नीलांबर संस्था के बच्चों के द्वारा युग्म रूप से कविता कोलाज की प्रस्तुति की गई।

लिटरेरिया के पोस्टर का अनावरण भी किया गया

इसके अतिरिक्त नरेश सक्सेना की कविता ‘गिरना’ पर स्मिता गोयल के द्वारा  तैयार वीडियो मोंताज दिखाया गया।कविता की इस साँझ में देश के प्रतिष्ठित कवि राजेश जोशी की अध्यक्षता में कविता पाठ में शामिल होने वाले कवियों में शामिल थे अनामिका, तुषार धवल और घनश्याम कुमार देवांश। सारी प्रस्तुतियाँ एवं कवियों का पाठ मंत्रमुग्ध करने वाला रहा एवं  श्रोताओं ने इसकी बहुत प्रशंसा की। इस मौके पर अतिथि के रूप में मौजूद थे वागर्थ पत्रिका के संपादक एवं आलोचक डॉ शंभुनाथ और कुसुम खेमानी।आगत अतिथियों ने कविता कोलज में हिस्सा लेने वाले बच्चों को उपहार प्रदान किया ।साथ में संस्था के अगले बड़े कार्यक्रम ‘लिटरेरिया 2018’ की विधिवत घोषणा करते हुए पोस्टर जारी किए। कार्यक्रम का संचालन अभिनेत्री एवं नाट्यकर्मी कल्पना झा ने किया। नीलांबर संस्था के अध्यक्ष विमलेश त्रिपाठी ने आगत सभी अतिथियों एवं स्रोताओं का स्वागत अपने वक्तव्य से किया। पूरे कार्यक्रम के संयोजन में शामिल थे,  आशा पांडेय, मनोज झा, आनंद गुप्ता,ऋतु तिवारी,स्मिता गोयल, अभिषेक पांडेय, मंटू कुमार साव, पूनम सिंह,रेवा टिबरेवाल,विजय शर्मा, भरत साव, प्रियंका सिंह,निधि पाण्डेय एवं विनोद कुमार।संस्था के उपाध्यक्ष यतीश कुमार ने नीलांबर संस्था एवं उसके आने वाले कार्यक्रमों एवं योजनाओं की संक्षिप्त जानकारी दी। संस्था के सचिव ऋतेश पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापन किया।कार्यक्रम में बड़ी संख्या में साहित्य प्रेमी  एवं शिक्षक उपस्थित रहें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − 5 =