..जब आनंद महिंद्रा ने बनवाया ‘जख्मी जूतों का हॉस्पिटल’

नयी दिल्ली : एजेंसी महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने जख्मी जूतों के डॉक्टर नरसी राम के लिए ‘जख्मी जूतों का हॉस्पिटल’ तैयार करवा दिया है। यह सब कैसे हुआ, इसका किस्सा खासा दिलचस्प है। असल में हरियाणा के जींद में पटियाला चौक पर एक शख्स नरसी राम की जूते सुधारने की दुकान है। राम ने अपनी दुकान का नाम ‘जख्मी जूतों का हस्पताल’ रखा है। उसने इसमें अपने को डॉक्टर नरसी राम लिखा और जूते सुधारने से लेकर लंच तक का समय बताया।
किसी ने नरसी राम का फोटो उद्योगपति आनंद महिंद्रा को व्‍हाट्सअप पर भेज दिया। फिर क्या था महिंद्रा इस शख्स के मुरीद हो गए और उन्होंने ट्विटर पर इसकी फोटो ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘इस आदमी को आईआईएम में मार्केटिंग सिखाना चाहिए।’ महिंद्रा ने लोगों से इस शख्स को खोजने की अपील की। उन्होंने कहा कि वो उसके छोटे से स्टार्टअप में निवेश करना चाहते हैं। इसके बाद इस शख्स को ढूंढ लिया गया। महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी ने उसे फूल और मोमेंटो दिया और कंपनी के टैक्ट्रर पर बिठाकर सारे शहर में घुमाया।
यूनिक कियोस्क अब महिंद्रा ने फिर से ट्वीट कर कहा, ‘जख्मी जूतों का हॉस्पिटल’ तैयार हो चुका है। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने नरसी राम से संपर्क करके उसके स्टार्टअप में निवेश करने का न्योता दिया है। नरसी राम ने उनसे अपने लिए अच्छा सा कियोस्क मांगा।
आनंद महिंद्रा के मुंबई स्थित डिजाइन स्टूडियो ने एक बेहतरीन ‘कियोस्क’ नरसी राम के लिए तैयार किया है। इसे जल्द ही नरसी राम को भेजा जाएगा। इस कियोस्क में दो बेंच लगी है। ऊपर ‘जख्मी जूतों का हस्पताल’ लिखा है। ये वैंटिलेटेड और वाटरप्रूफ कियोस्क है। इसमें जूते रखने और टांगने की सुविधा भी दी गई है। बहुत कम लागत में बने इस कियोस्क का डिजाइन यूनिक है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + thirteen =