फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाने वालों से बचें इस तरह

दोस्तों, आप युवा हैं और फेसबुक पर बहुत से आपके दोस्त भी हैं पर क्या हर अनजान व्यक्ति दोस्ती करने के लायक होता है? आज जब साइबर क्राइम बढ़ता जा रहा है और खुद फेसबुक मान रहा है कि करोड़ों अकाउंट फर्जी हैं तो आपको भी जरा सी सावधानी बरतने की जरूरत है।  हर काम तकनीक की सहायता से होता है और तकनीक का इस्तेमाल सभी आसानी से कर लेते है। ऊपर से सोशल मीडिया साइट्स जो व्यक्ति की इनफार्मेशन, नंबर, फोटोज इत्यादि को पुरे संसार में इन्टरनेट के जरिये प्रसारित करते है। इससे पूरा संसार एक सूत्र में बंध गया है किन्तु इसी का फायदा कुछ गलत लोग भी उठाते है। कुछ गलत लोग जैसे आतंकवादी, चोर, लुटेरे इत्यादि भी इनका इस्तेमाल करते है और फेक अकाउंट बनाकर लोगों को फंसाते है। खासतौर से ये फर्जी  अकाउंट किसी खुबसूरत लड़की की आईडी पर बनते है ताकि सभी उनकी तरफ आसानी से आकर्षित हो सके।

सोशल मीडिया पर दिन प्रतिदिन बढती इस धोखाधड़ी के जरिये लोग आपको अपना मित्र बनाते है और आपको कहीं आने के लिए बोल देते है जहाँ आपसे आपके पैसे छीन लिए जाते है, अगर किसी लड़की के साथ दोस्ती की जाए तो उन्हें बुलाकर उनके साथ बदतमीजी की जाती है। ऐसी ख़बरें आप रोजाना अखबारों में भी पढ़ सकते हो। आतंकवादी तो इसका अधिक गलत तरीके से लाभ उठाते है तो जरूरी है कि आप ये जांच कर ही किसी की फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट ( Friend Request Accept ) करें या किसी को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजें कि उसका अकाउंट फर्जी तो नहीं है। अब आप ये सोच रहे होगे कि आपको कैसे पता चलेगा कि किसका अकाउंट फर्जी है? तो चिंता ना करें आज हम अपनी इस पोस्ट में कुछ ऐसी बाते बताने जा रहे है जिसकी मदद से आप जान सकते है कि आपको किसके साथ मित्रता करनी चाहियें और किसके साथ नहीं।

 प्रोफाइल फोटो ( Profile Photo ) : किसी भी अकाउंट की तरफ आकर्षित करने के लिए उसपर खूबसूरत प्रोफाइल फोटो लगाई जाती है तो आप भी सबसे पहले उसके फोटोज में जाएँ और देखें कि क्या उसने अपनी खुद की कोई फोटो डाली है या फिर वो खुबसूरत लड़कियों की ही फोटो इस्तेमाल करता है। इसके अलावा कुछ फेक अकाउंट वाले फोटोज ही नहीं डालते. तो आप इन बातों को ध्यान में रखते हुए ही सामने वाले के अकाउंट को पहचाने।

 स्टेटस ( Status ) : फर्जी अकाउंट वालों में एक और ख़ास बात ये होती है कि वे अधिक से अधिक लोगों को अपना मित्र बनाने के चक्कर में अपना स्टेटस अपडेट नहीं करते, न ही जल्दी से किसी की पोस्ट का रिप्लाई देते है बल्कि अपनी ही फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने में लगे रहते हैं। तो इस तरह भी आपको फर्जी अकाउंट को पहचानने में मदद मिलती है.

 पिछली गतिविधियाँ ( Last Activities ) : आप फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने वाले की पिछली गतिविधियाँ भी अवश्य जांच लें और देखें कि वो किसी ग्रुप से जुड़ा है या नहीं,वो किसी के मेसेज का रिप्लाई कर रहा है या नहीं, किसी फोटो पर कमेंट या लाईक किया है या नहीं इत्यादि चीजें देखने के बाद ही निष्कर्ष निकालें और तभी अगला कदम बढायें।

   फ्रेंड लिस्ट ( Friend List ) : इनके अलावा आप उस व्यक्ति की फ्रेंड्स लिस्ट भी देख सकते हो. अगर आपको लगता है कि उसने लड़की की प्रोफाइल फोटो लगाकर सिर्फ लड़कियों को ही अपना मित्र बना रखा है तो संदेह करें और यदि उसने लड़के की फोटो लगाकर भी अधिक से अधिक लड़कियों को मित्र बना रखा है तो भी आपको संदेह होना चाहियें। आप इन दोनों ही स्थिति में फ्रेंड रिक्वेस्ट को रिजेक्ट ( Reject ) कर दें।

 प्रोफाइल ( Profile / About ) : हर सोशल मीडिया साईट में उस व्यक्ति को अपनी प्रोफाइल में अपनी कुछ जानकारियाँ डालनी होती है जैसे कि उसने कहाँ से स्कूल की शिक्षा ली है, कौन से कॉलेज में पढ़ा है, कहाँ काम किया है, कहाँ रहता है, किसमे इंटरेस्टेड है इत्यादि. तो आप भी इन सब बातों को जांचे और देखें कि उसने कितने कॉलम खाली छोड़ें है।

 जन्म तारीख ( Birth Date ) : अधिकतर फर्जी अकाउंट में आपको कुछ ऐसी जन्म तिथि मिलती है जिसे याद रखने में बहुत आसानी हो. जैसेकि 1 – 9 –1991, 11 – 11 – 1988 इत्यादि। आप उनकी जन्म तिथि से उनकी प्रोफाइल फोटो को मिलाकर भी देख सकते है और अंदाजा लगा सकते है कि उसकी बताई जन्म तिथि में और उसकी प्रोफाइल फोटो में कितने सालों का अंतर दिख रहा है तो आप उसकी जन्म तारीख पर भी अवश्य ध्यान दें।

 फ़ोन नंबर ( Phone Number ) : सोशल मीडिया साइट्स में 2 तरह से अकाउंट बनते है या तो आप अपनी ईमेल आईडी से अकाउंट बनायें या अपने फ़ोन नंबर से तो प्रोफाइल इनफार्मेशन में नंबर का मिलना सामान्य होता है किन्तु कोई भी लड़की इस बात को हमेशा याद रखती है कि उसका नंबर किसी अनजान के पास ना जाएँ. तो अगर आपको किसी ऐसे अकाउंट में फ़ोन नंबर मिलता है जिसपर किसी खूबसूरत लड़की की तस्वीर लगी है तो वो अकाउंट फर्जी होता है।

 पिछली पोस्ट ( Last Post ) : आप व्यक्ति की पिछली पोस्ट भी देख सकते है और अगर आपको वहाँ ऐसे जवाब दिख रहें है जैसे – क्या मैं आपको जानता हूँ,आप कौन है, आप मुझे कैसे जानते है, मुझे जोड़ने के लिए। धन्यवाद इत्यादि तो आपको समझ जाना चाहियें कि रिक्वेस्ट भेजने वाला ऐसा व्यक्ति है जो जबरदस्ती सभी को अपना फ्रेंड बना रहा है। तो ऐसे लोगों से तो आपको बहुत सावधान रहना चाहियें.

 इस्तेमाल की गयी एप्लिकेशन ( Used Application ) : हर वो व्यक्ति जो एंड्राइड फ़ोन इस्तेमाल करता है और जिसका किसी सोशल मीडिया साईट पर अकाउंट होता है वो गेम खेलने के दौरान कुछ स्कोर बनाता है या ऑनलाइन गेम खेलता है जैसे तीन पत्ती, कैंडी क्रश, पूल इत्यादि। इन सब एप्लीकेशन का रिकॉर्ड अपने आप उनकी सोशल मीडिया साईट पर पोस्ट हो जाता है ताकि उनके फ्रेंड देख सके कि वो कितना मजेदार व्यक्ति है. अगर आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने वाले व्यक्ति के अकाउंट में ऐसा कुछ नहीं दिखता है तो भी आप रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट ना करें।

 गूगल की सहायता ( Take Help from Google ) :गूगल बहुत ही शक्तिशाली सर्च इंजन है। ये हर ऐसे व्यक्ति का रिकॉर्ड भी अपने पास रखता है जिसने फेक अकाउंट बनाया है। आप भी रिक्वेस्ट भेजने वाले व्यक्ति की इमेज को गूगल में तलाश करने की कोशिश करें. अगर उसका अकाउंट फेक होगा तो गूगल आपको उस व्यक्ति का इतिहास, उसकी असली फोटो और फेक फोटो दोनों को आसानी से दिखा देता है जिससे आपको उस व्यक्ति के फर्जी अकाउंट को पहचानने में सहायता मिलती है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 1 =