बच्चों के लिए बनवाइए नया ‘आधार’, नहीं होगी फिंगरप्रिंट और आंखों की विस्तृत जानकारी

नयी दिल्ली :  तमाम सरकारी सुविधाओं के लाभ और पहचान के महत्वपूर्ण दस्तावेज के तौर पर जरूरी हो चुके आधार को लेकर UIDAI ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। 5 साल से कम आयु के बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए माता या पिता में से किसी एक का आधार नंबर और बच्चे के जन्म का प्रमाण पत्र जरूरी होगा। 5 साल से कम आयु के बच्चे का कार्ड बनवाने के लिए बायोमीट्रिक डिटेल्स की जरूरत नहीं होगी। बाल आधार असल में बच्चों का आधार कार्ड है। इसमें आंखों की आइरिस या फिंगरप्रिंट के स्कैन नहीं होंगे।

बाल आधार कार्ड का रंग देखकर ही उसकी पहचान की जा सकेगी। इसे बनवाने के लिए आपको अपने बच्चे को लेकर नजदीकी आधार एनरोलमेंट सेंटर पर ले जाना होगा। बच्चे का जन्म प्रमाणपत्र और पैरेंट्स का आधार कार्ड होना जरूरी होगा। सेंटर पर ही बच्चे का फोटो खींचा जाएगा और माता-पिता के आधार कार्ड के साथ उसे लिंक कर दिया जाएगा। साथ ही पैरेंट्स के फोन नंबर को भी बाल आधार के साथ जोड़ा जाएगा।

सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद 60 दिनों तक इंतजार करना होगा और बाल आधार घर आ जाएगा। 5 साल बाद बायोमीट्रिक डीटेल्स उपलब्ध करवाने होंगे। हालांकि 15 साल की आयु में दूसरी और आखिरी बार आपको बायोमीट्रिक डिटेल्स अपडेट करानी होंगी। विदेश में बच्चे की शिक्षा और स्कॉलरशिप हासिल करने के लिए बाल आधार जरूरी होगा।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + eight =