अपराजिता पर विज्ञापन

अपराजिता मूल रूप साहित्यिक, अकादमिक, व सांस्कृतिक या सामाजिक मूल्यों को मजबूत करने वाले विज्ञापन ही स्वीकार करेगी। बच्चों के जन्मदिन और युवाओं की उपलब्धि शुभकामना संदेशों का भी स्वागत है। किसी युवा ने शोध किया है या आपके शिक्षण संस्थान ने कोई पुरस्कार प्राप्त किया है तो उनको विज्ञापनों पर छूट मिलेगी, बर्शते वह विज्ञापन अथवा यूनियन में शामिल विद्यार्थी खुद भेजें। अगर आप अपना कोई व्यवसाय करते हैं या करती हैं तो आप हमें विज्ञापन भेज सकती हैं। आपका बैनर, नाम, सम्पर्क और उत्पाद की कुछ तस्वीरें भेजिए। अगर आप वीडियो से विज्ञापन करना चाहते हैं तो वह भी सम्भव है –

कृपया मेल भेजें

sushmaaprajita2016@gmail.com

अथवा हमारे फेसबुक पेज पर सम्पर्क करें
https://www.facebook.com/maanekabhinahaar/

कृपया इनबॉक्स न करें। अपराजिता की वॉल पर अपनी बात कहें

पहला बैनर (हेडर के पास)
728 -90 आकार – एक माह के लिए – 2000 रुपए,

15 दिन के लिए 1000 रुपए,

7 दिन के लिए 700 रुपये,

युवाओं के लिए – 500 रुपए

 

बीच का बैनर किताबों व साहित्यिक कार्यक्रमों के लिए (नि:शुल्क )

किताबों का लिंक (अमेजन, फ्लिपकार्ट अथवा जहाँ आपकी पुस्तक उपलब्ध है )आप शेयर कर सकते हैं। कॉलेज में आयोजित किसी सेमिनार की पूर्व सूचना यहाँ पर दी जा सकेगी।

( नोट – सूचना कार्यक्रम के कम से कम 15 दिन पहले दी जानी चाहिए ताकि तकनीकी स्तर पर जानकारी अपडेट की जा सके।)

सबसे नीचे वाला बैनर – (तीसरा लेयर)

एक माह के लिए – 1000 रुपये, 15 दिन के लिए 600 रुपये, 7 दिन के लिए 400 रुपए, युवाओं के लिेए -300 रुपए

अपराजिता यू ट्यूब चैनल पर विज्ञापन

https://www.youtube.com/channel/UCLfEvLJ_UKqyhkF0g4UYuSA?view_as=subscriber

अपराजिता का यू ट्यूब चैनल भी उपलब्ध है। अगर आप वहाँ विज्ञापन देना चाहें या कोई अच्छा व प्रेरक वीडियो हो तो आप वह भी भेज सकते हैं। अपने नाम की स्लाइड डालना न भूलें।

2 मिनट का फुटेज – 500 रुपये। इसके बाद प्रति मिनट 50 रुपये

(यह प्रारम्भिक स्तर पर है। इसे बढ़ाया जा सकता है)

नोट – किसी प्रकार के राजनीतिक अथवा नशे या बार, धार्मिक विज्ञापन हम स्वीकार नहीं करते। कृपया शोक सन्देश, सालगिरह जैसे विज्ञापन न भेजें। कृपया हमारा और अपना समय नष्ट न करें। अगर आप अपराजिता से जुड़ना चाहते हैं या लिखना चाहते हैं तो भी आप सम्पर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 12 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.