देश को स्वस्थ रखने आया आयुष्मान भारत, 50 करोड़ गरीबों को मिलेगा लाभ

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड से आयुष्मान भारत बीमा योजना- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारम्भ किया। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सरकार का देश के 10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को पांच लाख रुपए प्रति परिवार स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा मुहैया कराने का लक्ष्य है। सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना के मुताबिक, ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ गरीब परिवारों को इससे लाभ होगा। लगभग 50 करोड़ लोग इस योजना के दायरे में आएंगे। इसके लिए नेशनल हेल्थ एजेंसी ने नेशनल हेल्थ इंसोरेंस के तहत आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना की वेबसाइट और हेल्पलाइन को लांच कर दिया है। ऐसे में आप आयुष्मान योजना के लाभार्थी है या नहीं। यह आप इस एनएचए द्वारा शुरू की वेबसाइट पर देख सकते है। साथ ही इससे सम्बन्धित मदद के हेल्पलाइन पर भी बात कर सकते है। साथ ही अस्पतालों में आयुष्मान मित्र से भी मदद ले सकते है।
लाभार्थियों की सूची में नाम ऐसे जानें
आयुष्मान भारत- नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन (एबी-एनएचपीएम) को लागू करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी (एनएचए) ने एक वेबसाइट तथा हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया है, जिसके जरिए यह पता किया जा सकता है कि लाभार्थियों की अंतिम सूची में किसी व्यक्ति नाम है या नहीं। इसके लिए कोई व्यक्ति आयुष्मान भारत की वेबसाइट mera.pmjay.gov.in पर अपना नाम चेक कर सकता है या फिर हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल भी कर सकता है। लाभार्थी को अपना मोबाइल नम्बर दर्ज कराना होगा, जिस पर ओटीपी के जरिए सत्यापन होगा और उसके बाद बिना किसी दस्तावेज के केवाईसी (अपने कस्टर को जानिए) की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी की जाएगी।
आयुष्मान भारत योजना की देश के कर्इ राज्यों और जिलों में पायलट परियोजना की शुरुआत हो चुकी है। लाभार्थियों की मदद करने के लिए आयुष्मान मित्र भी तैनात किये गये है।ये आयुष्मान मित्र आयुष्मान स्वास्थ्य योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की मदद करेंगे। वह लाभार्थी व अस्पताल के बीच समन्वय स्थापित करेंगे।

इन अस्पतालों में होगा इलाज
आयुष्मान भारत योजना का लाभ देश भर में दस करोड़ परिवारों को लोगों को मिलेगा।साथ ही इस योजना के लाभार्थी देश भर में सरकारी या निजी अस्पतालों में कैशलेस इलाज करा सकेंगे। इतना ही नहीं सभी राज्यों के सरकारी अस्पतालों को इस योजना में शामिल माना जाएगा। इसके साथ ही प्राइवेट और र्इएसआर्इ अस्पताल में भी शामिल रहेंगे। यहाँ मरीज को भर्ती कराने से लेकर उनका बीमा कम्पनी से भुगतान कराने का सारा काम आयुष्मान मित्र सम्भालेंगे।
आयुष्मान भारत योजना के लाभ
आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपये तक का बीमा कवर मिलेगा।
देश में 1.5 लाख गाँवों में स्वास्थ्य व जागरुकता केन्द्र खुलेंगे। यहाँ सिर्फ बीमारी का इलाज ही नही होगा बल्कि यहाँ पर स्वास्थ्य परीक्षण की सुविधा भी मिलेगी।
आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा। इस योजना से देश के 10 करोड़ परिवारों और 50 करोड़ लोगों को फायदा होने की सम्भावना है।
यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना और वरिष्ठ नागरिक बीमा योजना का स्थान लेगी।
बीमा कवर के लिए उम्र की भी बाध्यता नहीं रहेगी। इसमें पहले से मौजूद बीमारियाँ भी कवर होंगी।
ये योजना कैशलेस होगी और इसमे परिवार के सदस्यों और उम्र का बन्धन नहीं होगा। योजना में रजिस्टर्ड किसी भी निजी या सरकारी अस्पताल में इलाज हो सकेगा। पिछले 10 साल में मेडिकल का खर्च 300 फीसदी बढ़ गया है। देश में मेडिकल का 80 फीसदी खर्च लोग अपनी जेब से उठाते हैं। इस खर्च का बोझ आम आदमी पर न पड़े इसलिए मोदी सरकार ने आयुष्मान भारत योजना बनाई है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 3 =